फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग

अच्छा शेयर कैसे चुनें

अच्छा शेयर कैसे चुनें
अगर आपकी त्वचा ड्राई है तो ऐसे फाउंडेशन को चुनना चाहिए जो त्वचा को हाइड्रेट करने में भी मदद करें। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आपकी त्वचा हाइड्रेटेड रहेगी तो मेकअप फ्लॉलेस नजर आएगा। साथ ही नमी मिलने के कारण आपकी त्वचा को भी मेकअप के कारण होने वाली ड्राईनेस से भी राहत मिलेगी। (ड्राई स्किन के लिए ड्युई मेकअप करने की टिप्स)

matte foundation

अच्छा शेयर कैसे चुनें

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के अच्छा शेयर कैसे चुनें आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा अच्छा शेयर कैसे चुनें करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए अच्छा शेयर कैसे चुनें है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन अच्छा शेयर कैसे चुनें और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

शेयर बाजार और समझदारी | वाणी रस्‍तोगी | Stock Market and अच्छा शेयर कैसे चुनें Sense | Vani Rastogi

१‧ शेयर बाजार में निवेश क्यों करना चाहिये
पहले हमें जानना चाहिये कि शेयर बाजार क्या है, शेयर बाजार में छोटी बड़ी कंपनियां अपने शेयर लिस्ट करती हैं और ये छोटी बड़ी कंपनियां अपने व्यापार को बढाऩे के लिये इस रकम का उपयोग करती हैं। इस प्रकार जब कोई भी व्यक्ति या संस्था किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं, तो वे उस कंपनी के शेयरधारक हो जाते हैं, कंपनी के लाभ व हानि के बराबर के जिम्मेदार भी हो जाते हैं। शेयर बाजार में निवेश इसलिये भी करना चाहिये क्योंकि बैंक में सावधि जमा में तो अब मात्र ५ से ६त्न ब्याज दर ही मिलती है, जबकि मुद्रास्फीति की दर लगभग ९त्न है, तो अगर आप बैंक में एक लाख रुपये की सावधि जमा अच्छा शेयर कैसे चुनें करते हैं, तो अपको लगभग ४त्न का नुकसान ही हो रहा है, क्योंकि मुद्रास्फीति से आपकी रकम का अवमूल्यन हो रहा है, और ५ वर्ष बाद इस एक लाख रुपये की कीमत लगभग ४त्न के नुकसान के बाद लगभग ८० हजार रुपये होगी, तो भविष्य की बचत के लिये आपको किसी ऐसी जगह पर निवेश करना होगा जहां आपकी रकम मुद्रास्फीति से ज्यादा का लाभ दे, तभी आपके निवेश का फायदा है। वहीं शेयर बाजार में आपकी रकम तेजी से बढ़ सकती है और आपको ज्यादा फायदा होने की संभावना होती है। हमेशा ध्यान रखें कि शेयर बाजार में जोखिम है इसलिये यहां लाभ होने की उम्मीद भी ज्यादा होती है।

शेयर बाजार और समझदारी | वाणी रस्‍तोगी | Stock Market and Sense | Vani Rastogi

१‧ शेयर बाजार में निवेश क्यों करना चाहिये
पहले हमें जानना चाहिये कि शेयर बाजार क्या है, शेयर बाजार में छोटी बड़ी कंपनियां अपने शेयर लिस्ट करती हैं और ये छोटी बड़ी कंपनियां अपने व्यापार को बढाऩे के लिये इस रकम का उपयोग करती हैं। इस प्रकार जब कोई भी व्यक्ति या संस्था किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं, तो वे उस कंपनी के शेयरधारक हो जाते हैं, कंपनी के लाभ व हानि के बराबर के जिम्मेदार भी हो जाते हैं। शेयर बाजार में निवेश इसलिये भी करना चाहिये क्योंकि बैंक में सावधि जमा में तो अब मात्र ५ से ६त्न ब्याज दर ही मिलती है, जबकि मुद्रास्फीति की दर लगभग ९त्न है, तो अगर आप बैंक में एक लाख रुपये की सावधि जमा करते हैं, तो अपको लगभग ४त्न का नुकसान ही हो रहा है, क्योंकि मुद्रास्फीति से आपकी रकम का अवमूल्यन हो रहा अच्छा शेयर कैसे चुनें है, और ५ वर्ष बाद इस एक लाख रुपये की कीमत लगभग ४त्न के नुकसान के बाद लगभग ८० हजार रुपये होगी, तो भविष्य की बचत के लिये आपको किसी ऐसी जगह पर निवेश करना होगा जहां आपकी रकम मुद्रास्फीति से ज्यादा का लाभ दे, तभी आपके निवेश का फायदा है। वहीं शेयर बाजार में आपकी रकम तेजी से बढ़ सकती है और आपको ज्यादा फायदा होने की संभावना होती है। हमेशा ध्यान रखें कि शेयर बाजार में जोखिम है इसलिये यहां लाभ होने की उम्मीद भी ज्यादा होती है।

ऐसे फाउंडेशन हैं बेस्ट

foundation for dry skin tips

अगर आपकी त्वचा ड्राई है तो आपके लिए ड्युई फाउंडेशन बेस्ट रहेंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि ये आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज करने के साथ-साथ चमकदार बनाने में भी मदद करेगा। साथ ही आपके चेहरे को ग्लॉसी लुक देने के लिए भी ड्युई फाउंडेशन बेस्ट होते हैं। बता दें कि ड्युई फाउंडेशन बहुत जल्द स्किन के अंदर अब्सॉर्ब हो जाते हैं, जिसके कारण मेकअप के बाद भी आपका चेहरा ग्रे या ब्लैक दिख सकता है। अगर आप अपने चेहरे को मेकअप के बाद होने वाले कालेपन से बचाना चाहती हैं तो ड्युई फाउंडेशन के इस्तेमाल से पहले स्किन केयर पर काफी गहराई से ध्यान दें।

अखरोट की खेती करने का सही समय

अखरोट की खेती करने के लिए दिसंबर से मार्च का महीना उपयुक्त होता हैं। कुछ जगहों पर अखरोट की खेती बारिश के मौसम में भी की जाती हैं। लेकिन दिसंबर में इसकी खेती करना सबसे अच्छा शेयर कैसे चुनें उपयुक्त माना जाता हैं। क्योंकि दिसंबर में इसका पौधा लगाने के बाद पौधों को काफी ज्यादा वक्त तक उचित मौसम मिलता हैं। जिससे पौधा अच्छे तरीके से विकास करता हैं।

अखरोट की खेती में पौधों को खेत में गड्ढे तैयार करके लगाया जाता हैं। खेत में गड्ढे को तैयार करने से पहले खेत की ट्रैक्टर की सहायता से मिट्टी पलटने वाले हल या कल्टीवेटर की मदद से गहरी जुताई कर कुछ दिनों के लिए खुला छोड़ देना चाहिए। इसके बाद खेत की मिट्टी भुरभुरी करने के लिए खेत में रोटावेटर चला दें। इससे खेत में मौजूद ढ़ीले भुरभुरी मिट्टी में बदल जाते हैं। रोटावेटर से खेत की जुताई करने के बाद पाटा लगाकर भूमि को समतल बना देना चाहिए। भूमि को समतल करने के बाद खेत में उचित दूरी रखते हुए दो फीट चौड़े और एक से डेढ फीट गहरे गड्ढे तैयार कर ले। इस बात का ध्यान रखे की गड्ढे से गड्ढे और पंक्तियों के बीच की दूरी अच्छा शेयर कैसे चुनें पांच मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए।

अखरोट के पौधे की नर्सरी तैयार करने का तरीका

अखरोट की पौध में रोपाई से करीब एक साल पहले मई और जून माह में नर्सरी तैयार की जाती हैं। नर्सरी में अखरोट का पौधा तैयार करने के लिए ग्राफ्टिंग विधि का इस्तेमाल किया जाता है। अखरोट की पौध ग्राफ्टिंग विधि से तैयार करने पर पौधों में मुख्य पौधे वाले सभी गुण पाये जाते हैं। इसके अलावा बीज से तैयार पौधे 20 से 25 साल बाद उपज देना शुरु करते हैं। जबकि ग्राफ्टिंग से तैयार पौधे कुछ साल बाद ही उपज देने लग जाते हैं।

अखरोट की खेती करते समय पौधों की रोपाई से पहले गड्ढों की तैयारी करते समय प्रत्येक गड्ढों में 10 से 12 किलोग्राम सड़ी हुई गोबर की खाद और लगभग 100 से 150 ग्राम रासायनिक उर्वरक की मात्रा को मिट्टी में अच्छे से मिलाकर गड्ढों में भर देना चाहिए। इसके अलावा खेत की मिट्टी में अगर जिंक की कमी हो तो पौधों को हल्की मात्रा में जिंक देना उपयुक्त होता हैं।

अखरोट की खेती में सिंचाई प्रबंधन

अखरोट की फसल में सर्दियों के मौसम में पौधों को 20 से 30 दिन में सिंचाई करनी चाहिए। वहीं सर्दियों में अधिक पाला पड़ने की स्थिति में पौधों को हल्का पानी देना चाहिए जिससे पाले का प्रभाव कम दिखाई देता है। अखरोट के पौधे पूरी तरह से विकसित होने के बाद इसके पेड़ों को साल भर में 7 से 8 सिंचाई की ही जरूरत होती हैं।

अखरोट के पौधे लगभग 4 साल बाद फल देना शुरू कर देते हैं। जब अखरोट के फलों की ऊपरी छाल फटने लगे तब इसकी तुड़ाई करनी चाहिए। अखरोट के फल पकने के बाद खुद से टूटकर गिरने लगते हैं। जब पौधे से लगभग 25 प्रतिशत फल अपने आप गिर जाएं तब एक लंबा बांस लेकर पौधे से इसके फल को तोड़ लेना चाहिए। अखरोट के नीचे गिरे हुए फलों को एकत्रित करके उन्हें पौधे की पत्तियों से ढक देना चाहिए।

भारत में मिनी ट्रैक्टर की जानकारी के ल

अखरोट की खेती में उत्पादन व लाभ

अखरोट का पौधा 4 साल की आयु पूरी करने के बाद से फल देना शुरू करता है, जो अगले 25 से 30 साल तक उत्पादन देता है। एक पौधा सालाना 45 से 55 किलो तक की पैदावार देता है। अखरोट एक महंगा ड्राईफ्रूट है। अखरोट का बाजार मूल्य 500 से 700 रुपये प्रति किलो तक का रहता है। इस हिसाब से देखें तो अखरोट के 20 से 25 पेड़ लगाकर ही किसान 5 से 6 लाख रुपये तक की कमाई आसानी से कर सकते हैं।

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों प्रीत ट्रैक्टर , वीएसटी ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

रेटिंग: 4.50
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 745
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *