क्रिप्टो ब्रोकर

निजी निवेश

निजी निवेश
जियो में आठवां निवेश

u0dl1l4

राष्ट्रीय दूरसंचार नीति, 1994

ऑप्टिकल फाइबर केबल, भूमिगत केबल आदि बनाने की क्षमताएं भी स्थापित की गई हैं । लक्ष्यों का संशोधन करने से मांग बढेग़ी और अतिरिक्त जरूरत को पूरा करने के लिए क्षमताओं में वृध्दि करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा ।

  1. इलेक्ट्रानिक मेल
  2. वॉयस मेल
  3. डॉटा सेवाएं
  4. ऑडियो टेक्स्ट सेवाएं
  5. वीडियो टेक्स्ट सेवाएं
  6. वीडियो कनफरेसिंग
  7. रेडियो पेजिंग
  8. सेल्यूलर मोबाइल टेलीफोन
  1. कम्पनी का ट्रेक रिकार्ड
  2. प्रौद्योगिकी की संगतता
  3. भावी विकास के लिए प्रदान की जा रही प्रौद्योगिकी की उपयोगिता,
  4. राष्ट्रीय सुरक्षा हितों का संरक्षण,
  5. हक को अत्यन्त प्रतिस्पर्धात्मक निजी निवेश लागत पर बेहतर किस्म की सेवा प्रदान करने की योग्यता,
  6. दूरसंचार विभाग के लिए आकर्षण वाणिज्यिक शर्तें ।

कोरोना काल में Jio को मिला आठवां निवेश, 50 दिन में आए लगभग 1 लाख करोड़

टेलीकॉम प्‍लेटफॉर्म जियो में निवेश का सिलसिला जारी

  • नई दिल्‍ली,
  • 08 जून 2020,
  • (अपडेटेड 08 जून 2020, 9:31 AM IST)
  • अबुधाबी निवेश प्राधिकरण ने जियो में 5,683 करोड़ का निवेश किया
  • यह पिछले सात सप्ताह से भी कम समय में जियो में आठवां निवेश है

लॉकडाउन में रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के टेलीकॉम प्‍लेटफॉर्म जियो में निवेश का सिलसिला जारी है. ताजा निवेश अबुधाबी निवेश प्राधिकरण (एआईडीए) ने किया है. न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक अबुधाबी निवेश प्राधिकरण ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.16 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 5,683.50 करोड़ रुपये का निवेश किया है.

सरकार ने निजी निवेश के साथ इलैक्ट्रिक बसों को चलाने के लिए पायलट प्रोजेक्ट को बढ़ावा दिया

शम्स रज़ा नकवी

By शम्स रज़ा नकवी | प्रकाशित: 25-Aug-20 04:05 PM IST

हम पहले से ही जानते हैं कि इलैक्ट्रिक वाहनों के लिए बनी फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलैक्ट्रिक व्हीकल्स (FAME) स्कीम का का दूसरा चरण मुख्य रूप से सार्वजनिक परिवहन पर केंद्रित है. देश के सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी पिछले कुछ समय से इलैक्ट्रिक बसों को बढ़ावा दे रहे हैं और अब उन्होंने पायलट प्रोजेक्ट के लिए निजी निवेश को आमंत्रित किया है. एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चौथे यूआईटीपी इंडिया बस सेमिनार में बस परिवहन उद्योग को संबोधित करते हुए गडकरी ने सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल के माध्यम से नए पायलट प्रोजेक्ट को बढ़ावा दिया है.

निजी निवेश

कमजोर वैश्विक अर्थव्यवस्था, निजी निवेश में कमी अगले वर्ष की मुख्य चुनौतियां होंगी: अरुण जेटली

कमजोर वैश्विक अर्थव्यवस्था, निजी निवेश में कमी अगले वर्ष की मुख्य चुनौतियां होंगी: अरुण जेटली

नई निजी निवेश दिल्ली। वैश्विक अर्थव्यवस्था की सुस्ती तथा निजी क्षेत्र को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली का मानना है कि इनमे निवेश में कमी नए साल की मुख्य चुनौतियां होंगी। वित्त मंत्री ने कहा की वर्ष समाप्त हो रहा है। अर्थव्यवस्था को चलाने वाले मौजूदा इंजन ही आगे भी कायम रहेंगे। इसके अलावा अर्थव्यवस्था को नीचे ले जाने वाले तीन पक्ष वैश्विक अर्थव्यवस्था, निजी क्षेत्र के निवेश में कमी और कृषि हैं।

सार्वजनिक निवेश बढ़ने से मांग बढ़ेगी, रोजगार पैदा होगा : आर्थिक मामलों के सचिव

pti

आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने बुधवार को कहा कि अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए सार्वजनिक निवेश बढ़ाने की बजट घोषणा से सीमेंट, इस्पात और पूंजीगत उत्पादों की मांग पैदा होगी और नए रोजगार के अवसरों का भी सृजन होगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को पेश बजट में सार्वजनिक व्यय में 35.4 प्रतिशत वृद्धि का ऐलान करते हुए इसके 7.5 लाख करोड़ रुपये रहने की घोषणा की जो जीडीपी का 2.9 प्रतिशत होगा।

सेठ ने प्रत्यक्ष समर्थन उपायों का सिर्फ सीमित गुणक प्रभाव ही रहने का अनुमान जताते निजी निवेश हुए कहा कि अर्थव्यवस्था को सतत रूप से मजबूती देने के लिए मध्यम से लेकर दीर्घावधि का प्रभाव डालने वाले कदमों की जरूरत है।

रेटिंग: 4.38
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 160
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *